Tea vs Coffee: चाय और कॉफी में बेहतर कौन, दोनों के फायदे और नुकसान ।

Tea vs Coffee: वैसे तो आजकल हर घर में चाय या कॉफी में किसी ना किसी एक का या दोनों का सेवन तो किया ही जाता है, शहरों में यह तो बहुत ही कॉमन सी बात है। गांव में भी लोग चाय का भरपूर सेवन करते हैं। कॉरपोरेट में या ऑफिस में काम करने वाले लोग हर रोज दो तीन कप चाय कॉफी में किसी ना किसी एक का तो सेवन करते ही हैं। ऐसे में हमारे लिए जानना बहुत जरूरी हो जाता है कि, आखिर दोनों में से कौन हमारे शरीर के लिए फायदेमंद है और कौन नुकसान। हालांकि, दोनों के अपने-अपने फायदे हैं, और दोनों के नुकसान भी मगर दोनों में सबसे ज्यादा फायदा किसका होता है, और ज्यादा नुकसान कौन करता है यह जानना बहुत जरूरी है।

वैसे तो बहुत सारे ऐसे पेय पदार्थ जिसमें कैफीन पाए जाते हैं, मगर चाय और कॉफी में इसकी मात्रा विशेष रूप से पाई जाती है, जिसका सेवन हम चाय या कॉफ़ी के रूप में करते है।

किसी को चाय पीना पसंद है तो किसी को कॉफ़ी मगर जब इसके सेवन करने वाले लोगो की संख्या ज्यादा हो फिर ये जरुरी बन जाता है की इसके बारे में सही जानकारी हो ताकि हम इसका उचित और सही तरीके से सेवन कर सके।

Index hide

Coffee Ki Production Kaha Jyada Hoti Hai ?

पूरी दुनिया में ब्राजील एक ऐसा देश है, जहा कॉफी की उत्पादन सबसे ज्यादा होती है, और भारत में कर्नाटका एक ऐसा राज्य है जहां पर कॉफी की उत्पादन सबसे ज्यादा होती है।

Puri Duniya Me 40 Million Cup Coffee Pi Jaati Hai: Tea vs Coffee

एक सर्वे के अनुसार रोजाना कम से कम 40 करोड़ कप काफी लोग पी जाते हैं।

Tea vs Coffee me kya achha hai

 

Tea vs Coffee: Caffeine ki Kitni Matra Ka Sevan Kare ?

कैफीन की कितनी मात्रा हमारे शरीर के लिए लाभदायक होता है ?

कैफीन की 25 से 50 मिलीग्राम मात्रा हमारे शरीर के लिए लाभदायक होता है, वैसे तो कैफीन के फायदे और नुकसान दोनों है मगर मानव स्वार्थ के लिए 25 से 50 मिलीग्राम का कैफ़ीन रोजाना लाभप्रद माना जाता है। मगर इसकी मात्रा जैसे ही बढ़ती है फिर अपना प्रभाव दिखाना शुरू करता है एक निश्चित मात्रा में कैफीन का सेवन करने से आपकी कंसंट्रेशन पावर बढ़ती है, नींद ज्यादा नहीं आती है और किसी काम के प्रति आप अपने आप को फोकस्ड पाएंगे।

Tea vs Coffee की बात करे तो चाय में निकोटिन और कैफीन इन दोनों की मात्रा मौजूद होती है, मगर जब हम चाय को छानकर पीते हैं, तो इससे उसका प्रभाव कम हो जाता है। और बची हुई मात्रा हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है, मगर इसका मतलब यह नहीं कि हम इसकी कितनी भी मात्रा का सेवन कर ले, और वह हमें फायदा ही पहुंच आएगा एक निश्चित मात्रा के बाद यह नुकसान करना शुरू कर देता है।

चाय और कॉफी की तुलनात्मक अध्ययन करें तो कॉफी पाउडर पानी में घुल जाता है, और फिर जब हम उसका सेवन करते हैं तो उसकी संपूर्ण मात्रा हमारे शरीर में प्रवेश करती है, इसलिए कॉफी में कैफीन की मात्रा काफी उच्च होती है। मगर चाय की बात करें तो चाय पत्ती को जब हम जान कर फेंक देते हैं उससे कैफीन की मात्रा कम हो जाती है।

 

चाय पीने के क्या फायदे है – Chaay Peene Ke Faayade in Hindi

करक चाय पीना किसे पसंद नहीं है। कड़क चाय पीने के फायदे भी बहुत सारे हैं आइये जानते हैं कि चाय पीने के 10 फायदे क्या-क्या हैं-

बालो को चमकदार बनाने में सहायक होता है

अगर आप अपने बालों को चमकदार रखना चाहते हैं। कि रोजाना ग्रीन टी का इस्तेमाल कर सकते हैं ग्रीन टी में पाए जाने वाले एंटी ऑक्साइड हमारे बालों को साइन करने में काफी मददगार होता है।

ग्रीन टी का उपयोग बालो को चमकाने के लिए करना चाहते है तो तीन बैग, एक जग उबले पानी में डालें और जब पानी का तापमान सामान्य हो जाये तो टी बैग निकाल ले और फिर उस पानी का उपयोग अपने बालों को धोने में करे फिर कुछ मिनिट्स बाद बालो को साफ पानी से धो ले साथ साथ कंडिशनर का उपयोग भी बालो को धोने में कर सकते।

सर्दी जुकाम से अदरक वाली चाय है कारगर उपाय: Tea vs Coffee

अगर चाय पत्त‍ियों में अदरक कूटकर मिलाकर फिर चाय बनाई जाये तो उसका प्रभाव ज्यादा होता है, क्युकी पत्त‍ियों में पाए जाने वाले एंटी ऑक्सीडेंट और फाइटोकेमिकल्स मानव शरीर के प्रतिरोधी तंत्र को और मजबूत होने के लिए जरुरी तत्व प्रदान करता है। तथा अदरक मिलाने से चाय का स्वाद भी बढ़ता है साथ साथ सर्दी जुकाम में भी दवा की तरह रक्षा करती है।

आकर्षक आंखों के लिए उपयोग

अगर आपकी आंखें सूजी हुई है या आपकी आंख जरा सुंदर नहीं दिखती हैं, तो इसके लिए भी आप चाय का इस्तेमाल कर सकते हैं। अक्सर ज्यादा शराब पीने से या हैंगओवर होने की वजह से सुबह आंखें सूजी हुई या फूली हुई लगती है। तो चाय या ग्रीन टी में मौजूद कैफीन की मात्रा खून की फूली हुई नसों को दबाने में काफी मददगार साबित होता है, अगर इसका एक कप सेवन करते हैं तो आपकी आंखें सामान्य सी दिखने लगेगी।

जली हुई स्किन की रिकवरी में चाय पत्ती मददगार

गर्मी के मौसम में अक्सर जब हम घर से बाहर निकलते तो उस वक्त हमारे स्किन धुप में मौजूद अल्ट्रावायलेट किरणों की वजह से जल जाती है उन जली हुई जगह पर ठन्डे टी बैग का इस्तेमाल करना काफी फायदेमंद होता है और तेरी से रिकवरी होती है।

चाय वजन घटाने में है सहायक

कई बार हम हम बिना दूध की भी चाय पीते हैं, जब चाय बिना दूध और शक्कर की बनाई जाती है, तो वह शरीर के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है और यह वजन घटाने में भी काफी सहायक होता है।

वजन कैसे घटाएं ? वजन घटाने के घरेलु नुस्खे ?

चाय रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करने में : Tea vs Coffee

ग्रीन टी के तो वैसे ढेरों फायदे हैं, मगर ग्रीन टी का जो सबसे मुख्य फायदा है, वह वजन को नियंत्रित करने, तनाव को कम करने, तथा कैंसर से लड़ने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करने में करता है।

Green Tea Ke Fayde

कई ऐसे शोध हुए हैं जिसमें यह पाया गया है कि ग्रीन टी का सेवन करने से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना कम हो जाती है, तथा उनके अंदर एक ऐसी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी विकशित होती है। जिसकी वजह से गर्भ कैंसर की भी संभावनाएं कम हो जाती है तथा उनके काम करने की क्षमता में भी काफी वृद्धि देखी गई है।

Lemon Tea ke Fayda in Hindi – लेमन टी हैं ज्यादा फायदेमंद

लाल चाय में जब हम लेमन मिलाकर पीते हैं जिसे हम लेमन टी भी कहते हैं वह हमारे शरीर के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है, क्योंकि लेमन में पाया जाने वाला विटामिन सी शरीर के लिए प्रतिरोधक क्षमता में काफी मददगार साबित होता है तथा ताजगी बनाए रखने में भी काफी मदद करता है।

Chaai Pattee फर्श को साफ करने में

चाय का इस्तेमाल आप अपने फर्श को साफ करने के लिए भी कर सकते हैं चाय की पत्ती को अपने फर्श पर बिखेरे और गर्म पानी उसके ऊपर छिड़क कर डाले फिर कुछ देर के बाद लगभग 15 मिनट के बाद फर्श को पोछ ले या साफ पानी से धो ले अब आपका फर्श बिल्कुल साफ दिखने लगेगा उसके ऊपर मौजूद दाग धूल मिटटी आदि आसानी से धूल जायेंगे।

चाय पत्ती से इंजेक्शन के समय दर्द से छुटकारा

कभी-कभी किसी व्यक्ति को इंजेक्शन लगाने पर काफी दर्द होता है, अगर आप भी उसी श्रेणी में है। और आपको भी इंजेक्शन लगाने में काफी दर्द होता है। तो इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि आपका स्किन कठोर है इस से बचने के लिए आप जहां पर इंजेक्शन लगाना चाहते हैं उस जगह पर चाय बैग को थोड़ी देर के लिए रखें 15 से 20 मिनट के बाद फिर इंजेक्शन लगवाए अब आपका स्किन काफी मुलायम हो जाएगा फिर आपको इंजेक्शन का दर्द का पता भी नहीं चलेगा और इससे होने वाले इन्फेक्शन से भी आप बच जाएंगे।

चेहरे के दाग को मिटाने में Tea Bag का Use होता है

अगर आपके चेहरे पर कील मुहासे ज्यादा आते हैं, तो फिर चहरे पर दाग परने की सभी सम्भावनाये ज्यादा हो जाती है। इन से बचने के लिए भी ग्रीन टी की पत्तियों का सेवन किया जा सकता है। कील मुहासो वाली स्किन में मौजूद बेंजॉइल प्रॉक्साइड को भी यह रोकती है, जिससे हमारे चहरे की स्किन पर स्पॉट नहीं परते है।

 

कॉफी पीने के क्या फायदे है – Coffee Peene Fayde hai

वैसे तो किसी भी चीज की आवश्यकता से अधिक सेवन करने से नुकसान ही करता है। मगर, जब हम संतुलित मात्रा में किसी खाद्य या पेय पदार्थ का सेवन करते हैं तो वह हमारे शरीर के लिए फायदा पहुंचाता है। कॉफी भी एक ऐसी ही पेय पदार्थ है, कॉफ़ी की असीमित मात्रा में सेवन करने से हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाता है। या कॉफी का एक अनियंत्रित मात्रा में सेवन करने से शरीर में कई सारी विकार उत्पन्न हो सकती है।

Tea vs Coffee me kiska sevan kare

Coffee Ka sevan Productivity Badhane Me: Tea vs Coffee

Coffee Peene ke Benefits – कॉफ़ी की नियंत्रित मात्रा में सेवन आपको किसी भी काम के प्रति सजग, फोकस्ड रहने में मदद करता है, तथा कुछ देर के लिए आप नींद को टाल भी सकते हैं।

कई बार तो डॉक्टर कई समस्या का इलाज के लिए एक नियंत्रित मात्रा में कॉफी का सेवन करने को बोलते हैं और यह एक तरह से औषधि के रूप में उपयोग में लिया जाता है।

कॉफी तुरंत ऊर्जा प्रदान करता है – Coffee Provides Instant Energy in Hindi

कॉफी स्वाद के अनुसार कड़वा होता है तथा इसको पीने से वात को कम करने में काफी सहायता मिलता है एक नियंत्रित मात्रा में कॉफी के सेवन से मस्तिष्क को ऊर्जा भी मिलती है तथा ऑफिस में काम करने वाले लोग वैसे लोग जो नींद आने की समस्या से ग्रसित उन्हें इसके सेवन से बार बार नींद की समस्या से से कुछ देर के लिए आराम भी मिलता हैं।

दैनिक जीवन की समस्या में कॉफी का सेवन – Daily Life Mein Coffee ka Sevan

कॉफी पीने से दैनिक जीवन में आपको कई सारी समस्याओं से छुटकारा दिलाता है या आराम पहुँचाता है: जैसे की जिनके मुँह से दुर्गन्ध आने की समस्या है वो लोग भी अगर इसका सेवन करे तो लाभ मिलता है। आलस को दूर भागने में भी इसका उपयोग किया जा सकता है। यह मस्तिक्स को तुंरंत आराम पहुँचाता है। सिर दर्द, अनिद्रा, थकान, दस्त, आमवात आदि समस्याओं में भी आराम पहुँचाता है।

Coffee Peene se ह्रदय सम्बंधित समस्या (Heart Related Problem) Dur Hoti hai

कॉफी की नियंत्रित मात्रा में सेवन से किडनी में सूजन सम्बंधित समस्याओं में भी मदद करती है साथ साथ ह्रदय सम्बंधित बीमारी में भी मदद प्रदान करती है।

कॉफी पीने की मात्रा – Coffee Kitna Pina Chahiye

10 से 15 मिलीग्राम कॉफी का सेवन दस्त और उल्टी संबंधित समस्याओं में भी उपयोग करने से फायदा मिलता है कॉफी के सेवन से उल्टी में इंसटेंट आराम मिलता है तथा हृदय की दुर्बलता थकान आदि समस्याओं में भी यह मदद पहुंचाता है।

Coffee Brain Power ko Badhata hai – Coffee Boost Mental Strength in Hindi

जिन लोगो को डिप्रेशन, यादास्त का कमजोर होना, तनाव आदि समस्याएं है उनको Coffee की एक नियंत्रित मात्रा में सेवन जरूर करना चाहिए इससे उनको इन सब बीमारियों में आराम मिलता है। क्युकी कॉफी में पाया जाने वाला ब्रेन स्टिमुलेंट काफी सारी औषधिये गुणों से भरपूर होता है और इसमें पाए जाने वाला वात शामक गुण इन सब समस्याओं में हमारे शरीर को काफी हद तक आराम पहुंचाता है और यह एक दवा की तरह काम करता है।

Coffee Uses for Weight Loss in Hindi

जो लोग अपने वजन कम करने पर काम कर रहे हैं वह कॉफी का सेवन कर सकते हैं क्योंकि इसमें पाए जाने वाले पाचन गुण हमारे शरीर के पाचन को स्वस्थ रखती है इसकी एक नियंत्रित मात्रा में सेवन की जाए तो इससे शरीर के मेटाबॉलिज्म को मजबूती प्रदान करने में सहायता मिलती है।

कॉफी का सेवन अस्थमा जैसी बीमारी में – Coffee Benefits in Asthma Hindi Mein

अस्थमा ऐसा देखा गया कि अस्थमा जैसी बीमारी में भी कॉफी का सेवन स्वास्थ्यवर्धक होता है क्योंकि, अस्थमा में वात दोष और कफ दोष के असंतुलित होने के कारण जो समस्याएं पैदा होती है उसको यह नियंत्रित करता है तथा या अस्थमा के लक्षणों को भी नियंत्रित करने में कुछ सहायता प्रदान करता है।

कॉफी स्किन कैंसर से बचाव के लिए – Coffee Benifits in Skin Cancer HIndi Mein

कॉफी का सेवन हमारे शरीर में स्किन कैंसर से बचाव के लिए जरुरी तत्व को प्रदान करता है जिससे शरीर में मौजूद प्रतिरोधक क्षमता को मजबूती मिलती है।

Coffee Ka Sevan Breast Size Badhane Mein

जिन महिलाओं को छोटे स्तन की शिकायत रहती है वे अगर रोजाना 3 कप कॉफी का सेवन करे तो उनके स्तन का आकर तेजी से बढ़ता है।

स्टैमिना को बढ़ाने मददगार है कॉफी – Coffee is Helpful to Increase Stamina in Hindi

कॉफी का नियमित मात्रा में सेवन अगर नियंत्रित हो तीसरे स्टैमिना भी बढ़ती है जो लोग रोजाना साइकिलिंग करते हैं उनके लिए कॉफी काफी फायदेमंद होता है इससे उनके साइकिलिंग स्टैमिना को बढ़ाने में काफी मदद मिलती है।

कॉफी का सेवन पुरुष स्टेमिना बढ़ाने में – Coffee Intake Increases Male Stamina in Hindi

रोजाना 2 से 3 कप कॉफ़ी का सेवन पुरुषो के अंदर कामेच्‍छा (libido) को बढ़ता है इस से सेक्स लाइफ को आंनदित बनाने में सहायता मिलती है ।

 

Tea vs Coffee: चाय पीने के नुकसान – Chay Pine Ke Nuksan Kya Hai ?

नियमित रूप से चाय पीने से अनिद्रा, पेट में गैस की समस्या, तनाव, ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन आदि की गंभीर समस्याएं हो सकती है चाय की एक लिमिट मात्रा कभी भी पार ना करें नहीं तो यह सेहत पर बहुत ही बुरा असर डालती है।

  • जो लोग चाय का सेवन नियमित करते हैं उनकी पाचन शक्ति कमजोर पड़ जाती है और पाचन संबंधी विकार उत्पन्न होने लगते हैं।
  • चाय लगातार पीते रहने से कोलेस्ट्रोल की मात्रा भी बढ़ जाती है।
  • हाथ पैरों में दर्द बहुत ही आम शिकायत हो जाती है, चाय पीने वाले लोगों के अंदर।
  • ब्लड प्रेशर की भी समस्या पैदा हो जाती है प्रेशर हाई होना सामान्य सी बात है।
  • ज्यादा चाय पिने वाले लोगो के पेट में गैस की समस्या भी उत्पन्न होने लगती है जो लगातार चाय का सेवन करते हैं, उनमें गैस्टिक की समस्या की भी संभावनाएं बढ़ जाती है।
  • जो लोग ज्यादा गर्म चाय पीते हैं उनके अंदर कैंसर की संभावनाएं बढ़ जाती है।

 

Tea vs Coffee: Chai Aur Coffee ke Nuksan

Tea vs Coffee: कॉफी पीने के नुकसान – Coffee Pine Ke Kya Nuksan Hai ?

जो लोग नियमित कॉफी का सेवन करते हैं उनके शरीर की नसे कमजोर पड़ जाती है महिलाओं के अंदर गर्भधारण की समस्याएं या गर्भ पर दुष्परिणाम से सम्बंधित समस्याएं पैदा होने लगती है साथ में तनाव और माइग्रेशन की समस्याएं भी देखने को मिलती है।

  • ऐसा देखा गया कि जो लोग लगातार कॉफी का सेवन करते हैं उनमें कैंसर की संभावनाएं ज्यादा बढ़ जाती है।
  • लगातार कॉफी के सेवन करने से शरीर की नसें भी कमजोर पड़ जाती है।
  • वैसी महिलाये जिनको गर्भधारण करना है उनको भी दुष्परिणाम देखने को मिलते हैं।
  • कॉफी के लगातार सेवन से अनिद्रा हो सकती है तथा तनाव भी ज्यादा बढ़ सकता है।
  • कॉफी में जो लोग शुगर की मात्रा ज्यादा मिलाते हैं उनमे डायबिटीज ब्लड प्रेशर आदि की संभावनाएं भी काफी हद तक बढ़ जाती है।
  • कॉफी का नियमित सेवन करने से घबराहट, चिड़चिड़ापन, अवसाद, निराशा आदि जैसे गंभीर समस्या पैदा हो सकती हैं इसलिए का सेवन अधिक ना करें कॉफी के अधिक सेवन करने से शरीर की नसे कमजोर पड़ जाती है जो इन सब समस्याओं का प्रमुख वजह बनती है।
  • कॉफी का अधिक सेवन करने से हृदय गति रुकने की संभावनाएं को भी बढ़ा देती है कॉफी पीने से घबराहट जैसी बीमारी से ग्रस्त हो सकते हैं आवश्यकता से अधिक कॉफी का सेवन इन सब समस्याओं की ओर खींच कर ले जाता है।

 

डायबिटीज रोगी के लिए आहार योजना क्या होना चाहिए ?

महिला तथा पुरुष के लिए स्वस्थ संतुलित आहार क्या होना चाहिए ?

 

Online Shopping

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *